सबकी खबर , पैनी नज़र

🇮🇳 राष्ट्रीय दिनांक 🇮🇳 शनि वार 🇮🇳

🇮🇳 🇮🇳 आज भारतीय नेशनल कैलेंडर के अनुसार दिनांक राष्ट्रीय सौर INC 12 फाल्गुन 1945
🇮🇳 आज पोप ग्रेगोरियन के अनुसार अंग्रेजी दिनांक 02 मार्च 2024
🇮🇳 राष्ट्रीय दिनांक का प्रयोग हमें चैक,NEFT, बैंक cash counter पर, प्रवेश पत्र, जन्म मृत्यु प्रमाण पत्र,विद्यालय के प्रवेश पत्र ब निष्कासन पत्र पर
अंग्रेजी में लिखना हो तब INC 12 PHGN 1945 हिंदी में लिखना हो तब
राष्ट्रीय सौर 12 फाल्गुन 1945 इस प्रकार लिखना चाहिए।
🚩 मंदिर सूचना पट्ट, कथा, कीर्तन, विवाह शादी, गृह प्रवेश निमंत्रण पत्र आदि पर दिनांक इस प्रकार लिखें 12 फाल्गुन (तपस्य)1945 (5125)
🇮🇳
🚩 जो सज्जन प्रतिदिन व्यक्तिगत पूजा करते हैं बह संकल्प इस प्रकार पढ़ सकते हैं ओम् विष्णु विष्णु विष्णु श्रीमद् भगवतो महत् पुरुषस्य विष्णो राजया प्रवर्तमानस्य अद्य ब्रह्मणो द्वितीये परार्धे श्री श्वेत वाराह कल्पे सप्तमे वैवस्वत मन्वंतरे अष्टा विंशति तमे कलियुग संबत् 5125, वैदिक मासे तपस्य मासे, राष्ट्रीय दिनांक 12 फाल्गुन, फाल्गुन कृष्ण षष्ठयां/सप्तमयां तिथौ, शनि वासरे, …. देहली … नामक स्थाने ( अपना गोत्र ब नाम ),,,,,, पूजनम् अहम् करिष्यामी
🇮🇳 राष्ट्रीय संवत् (सन्)1945
🚩 विक्रमी संवत् (सन्) 2080
🚩 महावीर जैन सम्वत् 2549
🚩 बौद्ध संवत् 2563
🚩 युगाब्द या कलियुग संवत् 5125
🚩 श्री कृष्ण संवत् (सन्) 5250
🚩 श्री राम संवत्(सन्) 880166
🚩 सृष्टि संवत् 1955885125
🚩 संवत्सर पिंगल
🚩 उत्तरायण
🚩 ऋतु वसन्त
🚩 वेदों के अनुसार तपस्य मास है
🚩 ऋतुओं, भौगोलिक, ब अंतरिक्ष विज्ञान के अनुसार फाल्गुन मास यही भारतीय संवैधानिक राष्ट्रीय महीना है
🚩 चन्द्रमा के अनुसार मास फाल्गुन पक्ष कृष्ण
🚩 तिथि षष्ठी प्रातः 7:53 तक तद् उपरांत सप्तमी
🚩 वार शनि वार
🚩 नक्षत्र विशाखा दोपहर 2:41 तक तद् उपरांत अनुराधा
🚩 दिनमान 28 घटी 42 पल (एक दिन रात 60 घटी / 24 घंटे का होता है)
🚩 सूर्योदय 6:49 सूर्यास्त 6:18
🚩 कुम्भ राशि में सूर्य संक्रान्ति से प्रविष्टे 19
🚩 दिशाशूल पूर्व (यदि यात्रा आवश्यक हो तो अदरक या उडद खा कर घर से निकलें) हमने किसी स्थान पर जाना है और वहां से उसी दिन वापस आना है तो दिशाशूल नहीं होता)
🚩 अभिजीत मुहूर्त दोपहर 12:10 to 12:56
(इस समय किये गये कार्य की रक्षा स्वयं भगवान विष्णु करते हैं)
🚩 राहुकाल 9:39 am से 11:06 am तक ( इस समय में कोई भी शुभ कार्य नहीं करना चाहिए ऐसा दक्षिण भारत में मान्यता है)
🚩 यह पंचांग दिल्ली के अक्षांश रेखांश पर आधारित है।
🚩 गण्डमूल 3 मार्च शाम 3:55 से 5 मार्च शाम 4:00 बजे तक
🚩 पंचक 8 मार्च रात्रि 9:17 से 12 मार्च रात्रि 8:28 तक
🚩 काल अष्टमी व्रत 3 मार्च रविवार
🚩 श्री जानकी व्रत 4 मार्च सोमवार
🚩 समर्थ गुरु रामदास नवमी, महर्षि ने दयानंद जयंती 5 मार्च मंगलवार
🚩 विजया एकादशी व्रत स्मार्त 6 मार्च गुरुवार
🚩 विजया एकादशी व्रत वैष्णव रामानुज निंबार्क संप्रदाय 7 मार्च गुरुवार
🚩 महाशिवरात्रि व्रत प्रदोष व्रत 8 मार्च शुक्रवार
🚩 अमावस्या 10 मार्च रविवार
🚩 सर्वार्थ सिद्धि योग 11 मार्च 1:54 am से 6: 39 am तक(इस मुहूर्त में किए गए सभी कार्य सिद्ध होते हैं)
🚩 सर्वार्थसिद्धि योग 8 मार्च प्रातः 6: 43 से दोपहर 10:40 तक
🚩 अमृत सिद्धि योग 12 मार्च रात्रि 8:28 से 13 मार्च प्रातः 6:37 तक
🚩 गुरु पुष्य योग
🚩 द्विपुष्कर योग 16 मार्च शाम 4:05 से रात्रि 9:40 तक
🚩 त्रिपुष्कर योग 26 मार्च 1:23 am से 6:53 am तक
🚩 ज्वालामुखी योग 14 मार्च 1:25 am से शाम 4:55 pm तक (इसमें कभी भी कोई कार्य सफल नहीं होता)